CAA-NRC के खिलाफ जामिया के छात्र आज निकालेंगे संसद मार्च

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए), राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के खिलाफ जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्र संसद मार्च निकालेंगे.

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए), राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के खिलाफ जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्र संसद मार्च निकालेंगे.

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए), राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के खिलाफ जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्र संसद मार्च निकालेंगे. जामिया को-आर्डिनेशन कमेटी की अगुवाई में दोपहर 12 बजे छात्र संसद मार्ग के लिए रवाना होंगे. जामिया के गेट नंबर 7 पर छात्र डटे हुए हैं और 24 घंटे धरने पर बैठे रहने का ऐलान किया है.

इससे पहले चुनाव के मद्देनजर जामिया कोर्डिनेशन कमेटी ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया के गेट नं. 7 से जारी धरना प्रदर्शन को एक दिन के लिए हटने का फैसला किया था.

बता दें कि जामिया में छात्र नागरिकता कानून के खिलाफ महीनों से प्रदर्शन कर रहे हैं. प्रदर्शन के दौरान जामिया के समीप दो बार फायरिंग की घटना हो चुकी है.

जामिया और शाहीन बाग में फायरिंग की तीन घटनाएं हो चुकी हैं. पहली घटना 30 जनवरी की है जब जामिया मिल्लिया इस्लामिया के बाहर नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर गोपाल नाम के एक लड़के ने गोली चलाई थी. इसमें पत्रकारिता का एक छात्र जख्‍मी हो गया था.

दूसरी घटना 1 फरवरी को शाहीन बाग में हुई थी. शाहीन बाग में CAA के खिलाफ जारी प्रदर्शन स्थल से कुछ ही दूरी पर कपिल नाम के एक शख्‍स ने हवाई फायरिंग की थी. उसका कहना था, 'देश में और किसी की नहीं चलेगी, सिर्फ हिंदुओं की चलेगी.' फिलहाल वह पुलिस की हिरासत में है. वह पूर्वी दिल्ली के दल्लूपुरा इलाके का रहने वाला है

.फायरिंग की तीसरी घटना जामिया मिल्लिया इस्लामिया में तीन फरवरी की रात में फिर फायरिंग की घटना हुई थी. यह फायरिंग जामिया के गेट नंबर सांच पर हुई थी. बताया जा रहा है कि फायरिंग के दौरान दो संदिग्ध देखे गए. रात में फायरिंग की। 




LEAVE A COMMENT